Husn Par Guman Karte Ho - Sad Shayari In Hindi

Husn Par Guman Karte Ho - Sad Shayari In Hindi

Husn Par Guman Karte Ho - Sad Shayari In Hindi

Heart Touching Sad Gazal in Hindi

हुस्न पर गुमान करते हो |
सुनो, 
क्यूँ मोहब्बत को बदनाम करते हो ||

इसका दिल तोड़ा उससे दिल लगाया |
क्यूँ किसी गरीब को परेशान करते हो |?|

हम तो टूट कर भी जिंदा है |
कोई मर ही जाए, क्यूँ ऐसा काम करते हो ||

एक ही बार में क्यूँ नहीं ले लेते जान हमारी |
हमारे सब्र का, क्यूँ बार बार इम्तिहान लेते हो |?|
लेखक 
डॉ. मोहम्मद मुस्तफा 

Post a comment

0 Comments